कैम्पस सिलेक्शन के लिए छात्रों को दी गयी 90 घंटो की ट्रेनिंग

    303
    कैम्पस सिलेक्शन के लिए छात्रों को दी गयी 90 घंटो की ट्रेनिंग

    भोपाल | इंजीनियरिंग की अलग-अलग ब्रांच तथा सरकारी कॉलेज से ग्रेजुएट पूरी करने वाले छात्र-छात्राओं को नौकरी मिलने का एक और अवसर है | राजीव गांधी प्रोद्योगिकी विश्वविद्यालय में शनिवार के दिन छात्रों को रोजगार देने के लिए 25 कंपनियां आ रही है  |

    इन कंपनियों द्वारा 2018 के छात्रों का इंटरव्यू लिया जाएगा जो दूसरी कंपनी द्वारा इंटरव्यू के समय बाहर कर दिए गए थे उन छात्रों को उनके द्वारा रोजगार दिया जाएगा | रोजगार के लिए 126 इंजीनियरिंग छात्र  तथा ग्रेजुएशन कर चुके 161 छात्र एवं छात्राएं ऐसे हैं जिनका कंपनियों  को इंटरव्यू लेना है |

    यह सभी विद्यार्थी बेरोजगारों की लाइन में लगने वाले थे लेकिन 25 कंपनियों के द्वारा राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में रोजगार मेले का आयोजन किया जा रहा है जिसमें इन सभी छात्रों  को रोजगार के अवसर दिए जाएंगे| इन सभी छात्रों में से ग्रेजुएट छात्र नूतन कॉलेज एमएलबी कॉलेज और हमीदिया कॉलेज से भी हैं |

    अमेरिका की नेशनल एजुकेशन फाउंडेशन ने केंद्र सरकार के नेशनल स्किल डेवलपमेंट के साथ मिलकर सभी छात्र-छात्राओं को राजधानी में 90 घंटे का प्रशिक्षण करवाया गया है जिसमें कंपनियों के सामने छात्रों को प्रजेंट करना है | मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा मई के महीने में एग्रीमेंट तैयार किया गया था |

    छात्रों को  प्रशिक्षण देने का प्रोग्राम पायलट प्रोजेक्ट के माध्यम से शुरू किया गया है | शनिवार के दिन कंपनियों द्वारा इंटरव्यू लेने के बाद प्लेसमेंट के आंकड़े सभी के सामने आ जाएंग, सिलेक्शन हो जाने के बाद राज्य सरकार के द्वारा मध्य प्रदेश के सभी छात्र छात्राओं को प्रशिक्षण देने की जिम्मेदारी  लेगी |

    राज्य में पहली बार प्लेसमेंट इंटरव्यू से बाहर हुए छात्राओं को दोबारा से मौका मिल सकेगा | तकनीकी शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि पायलट प्रोजेक्ट के माध्यम से कंपनी के साथ एग्रीमेंट हुआ था जिसमें छात्रों को 90 दिन की ट्रेनिंग दी गई थी छात्रों के लिए 90 दिन ट्रेनिंग के लिए 4000 दिए गए हैं सरकार द्वारा छात्रों का प्रशिक्षण मुफ्त करवाया गया है छात्रों के लिए राशि का भुगतान मध्य प्रदेश रोजगार एवं कौशल संवर्धन बोर्ड के माध्यम से किया जाएगा|

    Join our Android App, telegram and Whatsapp group