अदालत के फैसले से पहले नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ हड़ताल समाप्त हो गयी

    428
    अदालत के फैसले से पहले नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ हड़ताल समाप्त हो गयी

    ग्वालियर l जेएएच महाविद्यालय में सोमवार से शुरु हुई नर्सिंग और पैरामेडिकल  स्टाफ की हड़ताल गुरुवार के दिन समाप्त हो गई थी लेकिन जूनियर डॉक्टरों  में एकमत का अभाव होने के कारण वह हड़ताल खत्म होने की वजह से कोई भी फैसला नहीं लिया गया शनिवार के दिन सुबह जूनियर डॉक्टर एक साथ  होकर ओपीडी में पहुंच गए और प्रशासन के विरोध में प्रदर्शन करते हुए सीनियर डॉक्टरों से मांग के लिए समर्थन मांगा |

    जूनियर डॉक्टरों को एक साथ इकट्ठा देखकर कुछ सीनियर डॉक्टर वहां से चले गए शनिवार दोपहर 11:30 बजे डीन डॉक्टर एस एन आयंगर,  अधीक्षक डॉ राजेश सिकरवार, सीनियर प्रोफेसर डॉक्टर अशोक मिश्रा, डॉ अचल गुप्ता, डॉक्टर एस के शर्मा आदि डॉक्टर एकत्रित होकर जूनियर डॉक्टरों को समझाने चले गए | डॉक्टर डीन ने जूनियर डॉक्टर से कहा कि वह हड़ताल को समाप्त कर दें क्योंकि  न्यायालय के द्वारा यदि जूनियर डॉक्टरों के ऊपर कोई केस लगा दिया जाता है तो कोई भी सहायता नहीं कर सकेंगे |

    जूनियर डॉक्टरों की मांग के लिए 31 जुलाई  के दिन प्रमुख सचिव से बात होगी परंतु जूनियर डॉक्टर हड़ताल को समाप्त करने के लिए तैयार नहीं हुए डीन ने कहा कि  वह दोपहर 1:00 बजे उन्हें जवाब दें ताकि वह शासन को अवगत करा सकें डॉक्टर टीम के जाने के बाद डॉक्टर करीब 1:15 बजे  पूर्व जोड़ा अध्यक्ष डॉक्टर गिरीश चतुर्वेदी व डॉक्टर उदित बोर्ड महाविद्यालय पहुंचे और छात्रों से हड़ताल समाप्त करने के लिए कहा |

    जूनियर डॉक्टर के पूर्व अध्यक्ष ने छात्रों से कहा उनको संभागायुक्त और दिन में आपकी बात सुनने दी जाए और टीम ने भरोसा दिलाया है कि  छात्रों की मांगों को पूरा करेंगे | डॉक्टर चतुर्वेदी छात्रों से यहां तक कहा कि मांगे पूरी कराने के लिए जूनियर डॉक्टर को सरकार के द्वारा लिया गया फैसला को मानना होगा यदि न्यायालय द्वारा लिया गया फैसला का मामला हुआ तो फिर डॉक्टर डीन या प्रशासन कोई सहायता नहीं कर सकेगा |